माउस क्या है? कितने प्रकार होता है, पूरी जानकारी – Mouse in Hindi

mouse-in-hindi

Mouse in Hindi: आपको तो पता ही होगा पुराने दिनों का कंप्यूटर एक कमरे के बराबर हुआ करता था और आज की कंप्यूटर पुराने दिनों के कंप्यूटर से लाखों गुना बेहतर है और इसी कंप्यूटर को चलाने के लिए हमें एक सहारे की जरूरत पड़ती है उसका नाम है माउस. आप इस छोटे से लेख के जरिए जानेंगे माउस क्या है और कितने प्रकार के माउस होते हैं, और पूरी कोशिश करेंगे माउस से संबंधित पूरी जानकारी आपको देने के लिए .

दुनिया का सबसे पहला माउस लकड़ियों से डगलस एंजेलबर्ट के द्वारा 1960 में बनाया गया था जब माउस का आविष्कार हुआ था तब इसे “बग” कहा जाता था बाद में इसका नाम माउस इसलिए पड़ा क्योंकि स्टैंफोर्ड रिसर्च इंस्टीट्यूट मैं बने इसका आकार बिल्कुल एक छोटे चूहे जैसा था इसलिए बाद में इसका नाम माउस के नाम पर 1970 में पेटेंट करवाया गया और 1981 में इसे आम लोगों के लिए बाजारों में उपलब्ध कराया गया.

Mouse (माउस) क्या है? Mouse in Hindi

यह GUI Interface मैं सबसे ज्यादा प्रयोग होने वाली Pointer input Device है. इसका विकास 1980 के दशक के बाद किया गया था. इसका आकार माउस के समान होने के कारण इसे माउस कहा जाता है. इसमें कुल 3 बटन होते हैं Left and Right Button और बीच में एक Scroll Button होता है. और माउस के इन तीन बर्तन के जरिए ही कंप्यूटर का सारा काम किया जाता है.

पहला कम्प्युटर माउस Worlds 1st Computer Mouse

Mouse कितने प्रकार के होते हैं?Mouse in Hindi

जैसे-जैसे कंप्यूटर के जगत में तरक्की होती गई लगभग उसी तरह माउस भी समय के साथ विकसित होता गया. आइए जानते हैं माउस कितने प्रकार के होते हैं और कैसे काम करता है अलग अलग किसम का Mouse. मुख्य तौर पर Mouse तीन प्रकार के होते हैं.

1. Mechanical Mouse
2. Optical Mouse
3. Wireless Mouse

1. Mechanical Mouse (यांत्रिक माउस)

इन माउस का प्रयोग 1990 के दशक में किया जाता था इसमें एक रबड़ की गेंद होती थी जो माउस के खोल से थोड़ी बाहर निकली रहती है.

2. Optical Mouse (प्रकाशीय माउस)

Optical mouse एक नए प्रकार का माउस है. इसके नीचे एक लेजर लाइट जैसा बल्ब होता है. जिसके द्वारा आप कंप्यूटर को दूसरे माउस जैसा कंट्रोल कर सकते हैं और इसको इस्तेमाल करने में काफी मजा आता है क्योंकि यह बिल्कुल मक्खन की तरह चलती है.

3. Wireless/Cordless Mouse

यह आज के आधुनिक युग का माउस है यह माउस फ्रीक्वेंसी के आधार पर कार्य करता है. इसमें दो प्रमुख अंग Transmitter और Receiver होते हैं. यह Electromagnetic signal के रूम में माउस की गति तथा क्लिक करने की सूचना कंप्यूटर को भेजता है. रिसीवर कंप्यूटर में जोड़ा जाता है तथा इसके Driver को कंप्यूटर में Install करना पड़ता है. आज के ज्यादातर कंप्यूटरों में यह इनबिल्ट भी होता है.

mouse in hindi

Mouse से किस प्रकार का कार्य किया जाता है?

कंप्यूटर का मुख्य उपकरणों में से एक है माउस, माउस के बिना कंप्यूटर का कोई भी कार्य करना बहुत कठिन होता है या असंभव है. टाइपिंग छोड़ कर कंप्यूटर में कोई भी कार्य करने के लिए माउस की आवश्यकता होती है. नीचे दिए हुए जानकारी द्वारा आप इसे आसानी से समझ सकते हैं.

Pointing (पॉइंटिंग) : जब हम माउस को इधर उधर किसका कर Mouse Pointer का अपने डेक्सटॉप की किसी आइकन पर लाते हैं तो इसे पॉइंट करना कहा जाता है.

Clicking (क्लिकिंग) : जब हम माउस प्वाइंटर को किसी आइकन या प्रोग्राम पर लाकर माउस के बाय बटन को एक बार दबा कर छोड़ देते हैं तो उस क्रिया को क्लिक करना कहा जाता है.

Double clicking (डबल क्लिकिंग) : जब हम माउस के बाय बटन से जल्दी-जल्दी बार क्लिक करते हैं. तो उस क्रिया को डबल क्लिक करना कहा जाता है. डबल क्लिक से चयन किया गया प्रोग्राम सीधा खुल जाता है.

Right clicking (राइट-क्लिकिंग) : जब हम माउस प्वाइंटर को किसी आइकन या प्रोग्राम पर लेकर माउस के दाएं बटन को क्लिक करते हैं तो इस क्रिया को राइट क्लिक कहा जाता है.

Dragging (ड्रागिंग) : जब हम प्वाइंटर को किसी आइकन पर लाकर माउस के बाय बटन को दबाकर पकड़ लेते हैं और माउस बटन को दबाए रख कर ही माउस प्वाइंटर को इधर-उधर सरकाते हैं, तो इस क्रिया को खींचना या ड्रैग करना कहा जाता है. इस क्रिया का प्रयोग कंप्यूटर यूजर द्वारा अधिकांश: चित्र बनाने समय, Logo को बनाने समय किसी भी तरह की डिजाइनिंग करते समय किया जाता है.

Scrolling (स्क्रॉलिंग) : माउस के बीच वाले बटन को स्क्रॉलिंग बटन कहा जाता है इसे आप Mouse Wheel भी कह सकते हैं. इसके द्वारा किसी भी लंबे डॉक्यूमेंट या वेबसाइट के Pages को ऊपर नीचे आसानी से किया जा सकता है. इस Mouse Wheel को ऊपर नीचे अगर घुमाते हैं तो यह काम करता है.

निष्कर्ष

आपने जाना माउस क्या है, माउस से किस प्रकार के कार्य किया जा सकता है और माउस से संबंधित आपको उपयुक्त जानकारी मिल पाई होगी तो धन्यवाद हमारे इस लेख Mouse in Hindi को पढ़ने के लिए. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here