Sim Card Ko Hindi Mein Kya Kehte Hai? – पूरी जानकारी हिंदी में!

sim card ko hindi me kya kehte hai

क्या आप जानना चाहते हैं Sim Card Ko Hindi Mein Kya Kehte Hai? तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें इसमें आपको Sim Card संबंधित पूरी जानकारी दी जाएगी जैसे कि, Sim Card Kya Hai, Sim Card Full From, Sim Meaning In Hindi.

Sim Card को सबसे पहले 1991 में बनाया गया था और यह सिर्फ GSM मोबाइल्स के लिए उपलब्ध कराया गया था और यह सिम कार्ड 2G नेटवर्क पर काम करते थे GSM Ka Full From (Global System Of Mobile Communication) है.

सिम कार्ड का आविष्कार कब और किसने किया? – Sim Meaning in Hindi

सबसे पहले वायरलेस सिम कार्ड का आविष्कार Giesecke & Devrient नामक कंपनी द्वारा 1991 में किया गया था. और इस कंपनी ने सिम आविष्कार के पहले ही साल में 300 सिम कार्ड बेचने में सफल रही और यहीं से शुरू हुआ मोबाइल और सिम कार्ड का अनोखा व्यवसाय जो आज के दिन में भी काफी तेजी से चल रहा है.

Sim Card Ko Hindi Mein Kya Kehte Hai? – Sim Full From in Hindi

सिम कार्ड का Full From, “Subscriber Identity Module” है और हिंदी में Sim Card को “उपभोक्ता पहचान इकाई पता” कहा जाता है. और यह हमारे लिए मोबाइल नेटवर्क की दुनिया में हमारी आईडेंटिटी यह पहचान के रूप में भी काम करता है.

यानी कि एक ऐसा चिप जिसे Uniquely (आदित्य) एक टेलीकम्युनिकेशन कंपनी ग्राहक को आईडेंटिफाई कर सके और जिस तरह मेमोरी कार्ड 4GB 2GB 32GB के होते हैं. एक सिम कार्ड में कितना स्टोरेज रहता है क्या पता है आपको? सिर्फ और सिर्फ! 64KB और इसी में आपकी सारी जानकारी मौजूद होती है.

कीपैड मोबाइल में यह सिम कार्ड को बैटरी के पीछे लगाया जाता है और अभी का जमाना स्मार्टफोन का है इसमें मोबाइल के दाहिनी तरफ पिन की मदद से सिम कार्ड को लगाया और निकाला जाता है. सिम कार्ड का मुख्य इस्तेमाल मोबाइल, राउटर, जीपीएस ट्रैकर इत्यादि में किया जाता है.

Sim Card कितने प्रकार के होते हैं? – Types Of Sim Card

सिम कार्ड अपने आविष्कार के कुछ वर्षों तक बड़े आकार में पाया जाता था लेकिन समय बदलने के साथ साथ सिम कार्ड का आकार भी छोटा होता गया साथी अभी के समय में E Sim Card का भी प्रचलन शुरू हो चुका है. जिसमें मोबाइल में किसी भी प्रकार का सिम कार्ड लगाना नहीं पड़ता इसे नेटवर्क प्रोवाइडर द्वारा इंस्टॉल अथवा डाउनलोड किया जाता है.

sim card ko hindi me kya kehte hai

अभी तक के उपलब्ध जानकारी के अनुसार सिम कार्ड पांच प्रकार के होते हैं Standerd Sim, Micro Sim, Nano Sim, Combi Sim और E Sim. आविष्कार के प्रथम चरण में Standerd Sim Card का जन्म हुआ था उसके बाद परिवर्तन के साथ साथ माइक्रो सिम, नैनो सिम इत्यादि ने जगह ले ली.

सिम कार्ड कोने से क्यों कटा रहता है? – Sim Card Facts in Hindi

दरअसल दोस्तों शुरुआती समय की बात है, शुरुआती समय में कुछ इस तरह के मोबाइल फोंस बाजार में आते थे जिनके अंदर से सिम कार्ड को निकाला ही नहीं जा सकता था यानी कि आप जिस ऑपरेटर का मोबाइल खरीद लेते थे आपको उसी ऑपरेटर का मोबाइल इस्तेमाल करना पड़ता था.

लेकिन समय बदलने के साथ साथ पहली बार 1991 में एक यूरोपियन कंपनी द्वारा सिम कार्ड का आविष्कार किया गया लेकिन आविष्कार के शुरुआती चरण में भी सिम कार्ड को कोने से काटा नहीं जाता था. इसलिए लोगों को काफी परेशानी होती थी कि किस तरफ से सिम कार्ड को मोबाइल में डाला जाएगा!

और ऐसी खबरें रोजाना आने लगी की ग्राहक सिम कार्ड को गलत तरीके से मोबाइल में लगाने लगे, उसके बाद सिम कार्ड कंपनी से ने कुछ ऐसे लोगों को ग्राहकों में जागरूकता बढ़ाने के लिए बुलाना शुरू कर दिया जो ग्राहक को सही तरीके से सिम लगाना सिखा पाए लेकिन इससे भी कोई पुख्ता उपाय नहीं निकला

और आगे चलकर इस परेशानी को दूर करने के लिए सिम कार्ड की कंपनी ने सिम कार्ड को एक कोने से काट दिया जिसे लोगों को पता रहे की सिम कार्ड को किस तरफ से मोबाइल में लगाना है. और आज इसलिए हम सिम कार्ड को देखते ही समझ जाते हैं कि सिम को किस तरफ से मोबाइल में लगाना है.(Sim Card Ko Hindi Mein Kya Kehte Hai)

Mi का सबसे सस्ता 4G Mobile Phones 2020!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here